crypto-investero-ke-liye-good-news-ab-nhi-aayega-crypto-bill

क्रिप्टो इन्वेस्टरो के लिए गुड न्यूज़, अब नही आएगा क्रिप्टो बिल |

भारत सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया  (RBI) दोनों मिलकर एक साथ में स्वीटजरलैंड की एक बैंक के साथ में काम कर रहे है। क्रिप्टो करेंसी पर रेगुलेशन किस प्रकार से लाना चाहिए। तो आज इसी के बारे में हम लोग जानेगे, सबसे पहले आप यह जान ले की पार्लियामेंट का विंटर सेशन चल रहा है। जो की 23 डिसेम्बर 2021 तक चलने वाला था। लेकिन 22 डिसेम्बर 2021 को खत्म कर दिया गया है।

जिसका एक लाभ यह है, क्रिप्टो इन्वेस्टर को, की अब क्रिप्टो बिल नही आएगा। क्योकि अब पार्लियामेंट का सेशन ही ख़त्म हो गया है। तो क्रिप्टो बिल नही आएगा। अब अनुमान यह है, की यह फेब्रुअरी 2022 में क्रिप्टो बिल आये।

अब एक खुशखबरी यह है, क्रिप्टो इन्वेस्टर के लिए की मार्किट अब पहले जैसा होने लगा है। अब सब कुछ पहले जैसा हो जाएगा। अब मार्केट काफी तेजी से ऊपर जाते दिखाई दे रहा है, जिसके बाद अब सभी इन्वेस्टरो ने इन्वेस्ट करना चालू कर दिया है। जिसमे सबसे ज्यादा बिटकोइन में उछाल देखने को मिल रहा है।

और पढ़े- क्रिप्टो न्यूज टुडे, भारत में क्रिप्टोकरेंसी प्रतिबंध, क्रिप्टो बिल 2021

 

 

टॉप क्रिप्टोकरेंसी लिस्ट

क्रिप्टोकरेंसी  प्राइ
Bitcoin $48,765.03
Ethereum $3,988.57
Binance Coin $3,988.57
Tether $0.9999
Solana $185.10

जानिये 2021 में बिल आने की संभावना है की नही।

संसद के इस मौजूदा शीतकालीन सत्र में क्रिप्टो करेंसी पर बिल आने की संभावना थी। लेकिन अब इसे स्थगित कर दिया गया है।इस मुद्दे पर अभी बहुत सारी व्यापक चर्चा होना बाकी है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जब तक इसपर समग्रता से चर्चा और विचार नहीं हो जाता तब तक क्रिप्टो बिल नहीं आएगा। सूत्रों का कहना है, कि सरकार क्रिप्टो को लेकर किसी भी तरह की हड़बड़ी में नहीं है। आपको बता दें कि इससे पहले सत्र यानी मॉनसून सेशन में इस बिल को शामिल किया गया था।

और पढ़े- क्रिप्टोकरेंसी की आज की कीमते, बिटकॉइन, एथेरियम, पोलकाडॉट की 9% तक टूटी कमर

 

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में कई बड़े अधिकारियों के साथ बैठक की थी। और जल्द इस मुद्दे से निपटने के लिए सख्त कदम उठाने को कहा था। इसके अलावा आरबीआई भी इसे लेकर सख्त रुख अपनाए हुए है। रिजर्व बैंक के गवर्नर ने तो इसे बड़ा खतरा बताया है।

 

क्या है क्रिप्टोकरेंसी।

इसकी शुरुआत साल 2008 के फाइनेंशियल क्राइसिस से हुई थी।जब लोगों का बैंकिंग सिस्टम से भरोसा उठ गया था। साल 2009 में एक जापानी वैज्ञानिक सतोषी नाकामोतो ने बिटकॉइन का अविष्कार किया। तब किसी को कुछ पता नहीं था। कि आखिर ये क्या बला है, तब इसे क्रिप्टो करेंसी कहा गया। क्रिप्टो यानी ग्रीक भाषा में सीक्रेट यानी गुप्त मुद्रा है।

आज दुनिया में क़रीब 8 हज़ार से ज़्यादा क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं। हालांकि आज के समय में मशहूर बिटकॉइन ही है। अब आपके मन में बिटकॉइन को लेकर सवाल उठ रहे होंगे? आइए पहले इसे ही जान लेते है।

इसे भी जाने- जानिये cryptocurrency पर क्या बोले PM मोदी, क्या है भविष्य में इसके संकेत

 

crypto-investero-ke-liye-good-news-ab-nhi-aayega-crypto-bill

बिटकोइन के प्रति, क्या है – सरकार की योजना।

सूत्रों की मानें तो 23 दिसंबर को समाप्त होने वाले शीतकालीन सत्र के दौरान संसद में क्रिप्टोकरेंसी कानून पेश नहीं किया गया। बिल का संसद के दोनों सदनों के एजेंडे में भी कोई भी जिक्र नहीं है। सूत्रों के मुताबिक, क्रिप्टोकरेंसी बिल पर अभी भी काम चल रहा है, और सरकार अभी भी नियामक प्रावधानों को अंतिम रूप दे रही है।

और पढ़े- criptocurrency क्या है, क्या इसमें इन्वेस्ट करना चाहिए आईये जानते है

2022 में क्या है, सरकार के सामने असली परेशानी।

क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 पर इंडस्ट्री में विवाद है। इसकी वजह है कि लोकसभा की वेबसाइट पर बिल को लेकर टिप्पणी है, कि जिसमें कहा गया है। कि इसका मकसद भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करना है।

लेकिन इसमें टेक्नोलॉजी और उसके इस्तेमाल का प्रचार करने के लिए कुछ छूटों की इजाजत दी गई है। हाल के दिनों में, देश में बड़ी क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में बड़ा उतार-चढ़ाव देखा गया है, क्योंकि निवेशक रेगुलेशन पर ज्यादा साफ तस्वीर का इंतजार कर रहे हैं।

इसे भी पढ़े- पैसे इन्वेस्ट करने से पहले जाने, यह चार बाते

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *